एक्सीडेंट कर मृतिका के शव को साक्ष्य छुपाने की नियत से घटनास्थल बदलकर दूसरे जगह पर रखने वाले आरोपियों को बहरी पुलिस ने पहुचाया सलाखों के पीछे

0

सीधी। पुलिस अधीक्षक सीधी मुकेश कुमार श्रीवास्तव के कुशल निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  सीधी सुश्री अंजूलता पटले व उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय विवेक कुमार गौत्तम के कुशल मार्गदर्शन में तथा थाना प्रभारी बहरी उनि पवन सिंह के नेतृत्व में लापरवाही पूर्वक वाहन चलाकर लड़की का एक्सीडेंट कर साक्ष्य छुपाने वाले आरोपियों को बहरी पुलिस ने किया गिरफ्तार

दिनांक 12/07/2002 को थाना प्रभारी बहरी को सूचना प्राप्त हुई की ग्राम तरका में एक लड़की रोड पर मरी पड़ी हुई है सूचना पर तत्काल रवाना होकर घटनास्थल पहुचे तो देखा कि एक करीब 14-15 वर्ष लड़की जिसके सिर में चोट थी तथा कान एवं नाक से खून निकला था मृत अवस्था में रोड़ के किनारे पड़ी हुई है घटनास्थल पर देहाती मर्ग कायम कर मर्ग जांच प्रारंभ की गई एवं लड़की की शिनाख्ती के लिये थाना क्षेत्र एवं अन्य थानों में सूचना दी गई जो उसी समय ग्राम ददरी के कैलाश अगरिया एवं कुसुमकली अगरिया मौके पर उपस्थित आये जो मृतिका लड़की को रूचि अगरिया पिता मुन्नीलाल अगरिया उम्र 16 वर्ष ग्राम बरिगवा जिला सिंगरौली के रूप में पहचान किया जो रिस्ते में कैलाश अगरिया की साली लगती है तथा साथ मे बेठुला अगरिया पिता मनफेर अगरिया उम्र 10 वर्ष साकिन कधौली थाना देवसर जिला सिंगरौली भी मृतिका को पहचाना तथा बताया की मैं लगभग एक माह से ग्राम ददरी में अपने मौसा पुष्पराज अगरिया के यहां रह रहा हूँ वहाँ पर बनी मजदूरी करता हूँ। दिनांक 10.07.2002 को मृतका अपने जीजा कैलाश अगरिया के यहां आई थी हम लोगों के साथ ही मजदूरी करने जाती थी कल दिनांक 11.07.2022 के शाम करीब 05:00 बजे मैं, मौसियां पुष्पराज, करण अगरिया और रूचि गाव के बृजेन्द्र सिंह के महिन्द्रा ट्रैक्टर ने गिट्टी लोड कर पोखरा गांव गिराने गये थे ट्रेक्टर राजेश अगरिया चलाकर ले गया था पोखरा गांव पहुंच कर राजेश शराब पीने लगा हम लोग शराब पीने से मना कर रहे थे हम लोगों की बात नहीं मान रहा या रात करीब 11 बजे राजेश ट्रेक्टर लेकर ददरी गांव के लिये चला ट्रेक्टर में मैं, मौसिया पुष्पराज, करण अगरिया और रूचि बैठे थे राजेश ट्रैक्टर को रोड में इधर उधर काफी तेज गति से चला रहा था हम लोग कह रहे थे की धीरे चलाओ लेकिन नहीं मान रहा था। हम लोगो को डांट देता था करीब 12 बजे रात ग्राम ददरी में राजेश ट्रेक्टर को जान बूझ कर तेज गति से चलाते हुए अचानक ब्रेकर पर ट्रेक्टर कुदा दिया तभी रूचि ट्रेक्टर से नीचे गिर गई गिरने के दौरान ट्रैक्टर व ट्राली का जोड व कल्टीवेटर फसाने वाले हुक में टकराने से रूचि के काफी चोट लगी ट्रेक्टर खड़ा करके राजेश वहां से भाग गया मैं, मौसिया पुष्पराज व करण रूचि को देखे तो रूचि के कान व नाक से काफी खून बह रहा था तथा सिर में काफी चोट लगी थी कुछ देर में रूचि मर गई मौसिया पुष्पराज व करण रूचि की लास उठाकर ट्राली में रखकर ट्रेक्टर मौसिया पुष्पराज घर के पास ले जाकर खड़ा कर दिये फिर हम तीनो लोग ट्रेक्टर मालिक बृजेन्द्र सिंह के घर गये भीसिया पुष्पराज बृजेन्द्र सिंह को बताये की राजेश अगरिया जान बूझ कर अत्यधिक शराब पीकर ट्रेक्टर काफी तेज गति से चलाकर ब्रेकर में कुदा दिया जिससे रूचि नीचे गिर गई व चोट लगने से उसकी मृत्यु हो गई है लास ट्राली में रखकर में ट्रेक्टर घर के पास खड़ा कर दिया हूँ। राजेश वहा से भाग गया है तब बृजेन्द्र सिंह बोले की में कुछ नहीं जानता लड़की की लास ले जाओ घाट के नीचे मेन रोड पर फेंक देना जिससे लगे की कोई गाड़ी से एक्सीडेन्ट हुआ होगा तथा जिन कपड़ों में खून लगा है फेंक देना तभी राजेश अगरिया भी वहां आ गया बृजेन्द्र सिंह के कहने पर राजेश, करण और मेरे मौसिया पुष्पराज वापस आकर ट्रेक्टर ट्राली से रूचि की लास उतार कर तिरपाल में लपेट कर घाट के नीचे तरका तरफ ले गये तथा मुझे बोले की कुछ भी मत बताना। चश्मदीक साक्षी बेठुला अगरिया के बताये अनुसार आरोपी राजेश अगरिया, करण अगरिया, पुष्पराज अगरिया एवं बृजेन्द्र सिंह का यह कृत्य धारा 304.201 भादवि के तहत दण्डनीय पाये जाने से अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। तथा उक्त सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय पेश किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.