रीवा : चुनाव हारे तो खोद डाली सड़क, बंदूक लहरा के ग्रामीणों को धमकाया

0

रीवा में पहली बार सरपंच बनने पर खुद की जमीन से बनवाई सड़क, दोबारा हारे तो खोद डाला, इन 7 जगहों के चुनाव चर्चा में पी

रीवा जिले के गंगेव जनपद की अहिरगांव पंचायत में बदले की भावना से राजनीति का मामला सामने आया है। यहां पहली बार सरपंच बने चन्दनमणि त्रिपाठी ने खुद की जमीन से गांव के लिए सड़क बनवा दी। 7 साल बाद 1 जुलाई को दोबारा चुनाव हुआ तो प्रधानी का चुनाव हार गए।

ऐसे में 2 जुलाई की सुबह ट्रैक्टर से पूरे गांव की सड़क खोद डाली है। घटना के बाद बस्ती के लोग मनिकवार पुलिस चौकी शिकायत लेकर पहुंचे। जहां आधा सैकड़ा ग्रामीणों की भीड़ देखकर पुलिस ने राजस्व अधिकारियों को अवगत कराते हुए गांव वालों से शांति की अपील की है।

सरपंची में मिली हार, बंदूक लहराकर ग्रामीणों को धमकाया

गढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक आरके गायकवाड़ ने बताया कि 1 जुलाई की रात गढ़वा ग्राम पंचातय से सरपंच पद के प्रत्याशी रामदास जायसवाल बंदूक लहराकर ग्रामीणों की हत्या करने की धमकी दी। वह हार की बौखलाहट में दोनों कंधो पर बंदूक टांग कर झोले में तलवार, चाकू और खुखरी आदि लेकर गांव में निकल पड़ा। फिर क्रमश: सभी को धमका रहा था।

रीवा: पंचायत चुनाव में गड़बड़ी, 4 जुलाई को पुनर्मतदान

जनपद रीवा के मतदान केन्द्र क्रमांक 135 में जनपद पंचायत सदस्य पद के लिए पुनर्मतदान 4 जुलाई को कराया जाएगा। मतदान सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक संपन्न होगा। वोटिंग के बाद मतदान केन्द्र में ही गणना की जाएगी। बता दें कि 1 जुलाई को हुए निर्वाचन के दौरान असामाजिक तत्वों द्वारा जनपद पंचायत सदस्य के मतपत्रों को क्षति पहुंचाई गई थी।

पोलिंग बूथ पर हमला, एसडीएम मौके पर पहुंचे

चोरहटा थाने के भिटवा पंचायत में 1 जुलाई की देर रात मतगणना को लेकर बवाल मच गया। गड़बड़ी का आरोप लगाकर स्थानीय लोगों ने हंगामा किया। बवाल की सूचना पर पुलिस पहुंची। जिसने अपने सामने मतों की गिनती करवाई। देर रात तक मतदान केन्द्र में हंगामा चलता रहा। यहां एसडीएम अनुराग तिवारी व सीएसपी सच्चितानंद प्रसाद आदि अधिकारी गए थे।

भोलगढ़ में भी बवाल, पुलिस ग्रामीणों को खदेड़ा

जनपद पंचायत रीवा अंतर्गत ग्राम पंचायत भोलगढ़ में हारे हुए सरपंच प्रत्याशी पोलिंग बूथ के बाहर भिड़ गए। आनन फानन में पुलिस को सूचना दी गई। जानकारी के बाद पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को खदेड़ा। तब कहीं जाकर बड़ा बवाल होने से बचा है। चर्चा है कि निरीक्षक एसएस बघेल व उनकी टीम ने उपद्रवियों को पोलिंग बूथ से दूर खदेड़कर शांति व्यवस्था बनाई थी।

पुलिस से झूमाझटकी, पथराव, हवा में चलीं गोलियां

रीवा जनपद के बरा पैपखार 396 में मतगणना के दौरान स्थिति बिगड़ गई। दावा है कि मतों की गिनती के दौरान खाली मतपत्र के माध्यम से कुछ लोगों ने गड़बड़ी का प्रयास किया। पुलिस ने जब रोकने का प्रयास किया तो आरोपी भिड़ गए। इस वारदात में विश्वविद्यालय थाने के एसआई संग्राम सिंह एवं आरक्षक सुरेश चोटिल हुए है। चर्चा है कि हवा में गोलियां भी चलीं थी।

लौवा-लक्ष्मणपुर में पुनर्मतदान की मांग

रायपुर कर्चुलियान जनपद के लौवा-लक्ष्मणपुर पंचायत की सरपंच प्रत्याशी जया सोंधिया ने पुनर्मतदान की मांग की है। आरोप है कि शत प्रतिशत फर्जी मतदान कराए गए है। गांव के सरहंग लोग मत पत्र बाहर लाकर वोट डाले है।​​ जिसका वीडियो भी वायरल हुआ है। निर्वाचन प्रेक्षक, कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी, एसपी, जिपं सीईओ, एसडीएम को पत्र लिखा है।

रिकाउंटिंग कराने की मांग

जनपद पंचायत रीवा की वार्ड क्रमांक 5 अंबा में हुए द्वितीय चरण के मतदान में 6 वोटो से पीछे रह गए प्रत्याशी ने गंभीर आरोप लगाए है। प्रत्याशी पूजा पाण्डेय ने कहा है कि चुनाव के बाद मतगणना की प्रक्रिया प्रारंभ की गई। दावा किया है कि उनकी जीत पक्की थी, लेकिन वोटो की गिनती प्रक्रिया के बाद प्रत्याशी को 6 वोटो से पीछे होने की जानकारी दे दी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.