रीवा नगरीय निकाय चुनाव में 74 पदाधिकारी मैदान में, निर्दलीय पार्षद कैंडिडेट के रूप में ठोंकी ताल, मुश्किल में भाजपा

0

रीवा नगरीय निकाय चुनाव में 74 पदाधिकारी मैदान में, निर्दलीय पार्षद कैंडिडेट के रूप में ठोंकी ताल, मुश्किल में भाजपा

मध्यप्रदेश भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने रीवा जिले से बागी हुए BJP के पदाधिकारियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। दावा है कि रीवा भाजपा जिला अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह के प्रतिवेदन पर एक दशक से जुड़े 74 मूल कार्यकर्ताओं को 2 जुलाई को पत्र जारी कर 6 वर्षों के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया गया

भाजपा सूत्रों की मानें तो रीवा नगर निगम और 11 नगर परिषदों से 74 लोग निर्दलीय कैंडिडेट के रूप में पार्षद पद का चुनाव लड़ रहे है। चर्चा है कि पहले पार्टी द्वारा पार्षद पर की टिकट देने का वादा किया गया था। लेकिन एन वक्त में दूसरे उम्मीदवार को भाजपा ने टिकट दे दी। ऐसे में अपने ही दल के खिलाफ कार्यकर्ताओं ने ताल ठोंक कर मैदान पर उतर गए है। आधा सैकड़ा से ज्यादा प्रत्याशियों के मैदान में उतरे से भाजपा मुश्किल में है।

रीवा नगर निगम से 18 कार्यकर्ता बगावत पर उतरे

सबसे ज्यादा रीवा नगर निगम से 18 कार्यकर्ता पार्षद का चुनाव लड़ रहे है। वहीं गुढ़ में 9, गोविंदगढ़ में 8 कार्यकर्ताओं ने बगावत की है। इसी तरह चाकघाट में 6, बैकुंठपुर में 5, डभौरा में 5, त्योंथर में 5, मउगंज में 5, मनगवां में 4, नईगढ़ी में 4, हनुमना में 3, सिरमौर में 2 उम्मीदवार पार्षद का चुनाव लड़ रहे है। हालांकि सिर्फ सेमरिया नगर परिषद बगावत से बची है। जहां पार्टी के उम्मीदवार स्वतंत्र रूप से चुनाव लड़ रहे है।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.