रीवा में 3 बच्ची के बाद पुत्र की मांगी मन्नत, पूरी होने पर कुल्हाड़ी से गला काट चढ़ा दी बलि, लास्ट बार दिखा था आरोपी

0

रीवा में 3 बच्ची के बाद पुत्र की मांगी मन्नत, पूरी होने पर कुल्हाड़ी से गला काट चढ़ा दी बलि, लास्ट बार दिखा था आरोपी

रीवा जिले के बैकुंठपुर थाना अंतर्गत बेढ़ौआ देवी मंदिर में मिली लाश का पुलिस ने लगभग पर्दाफाश कर दिया है। सूत्रों की मानें तो आरोपी की तीन बच्चियां थी। ऐसे में एक साल पहले पुत्र प्राप्ती की मन्नत मांगी। गांव वालों में चर्चा है कि मन्नत के बाद आरोपी की पत्नी कुछ दिनों बाद गर्भवती हुई। बच्चा भी हो गया, लेकिन देवी के दर पर खाई कसम अधूरी थी। जिसको पूरा करने के लिए आरोपी एक चरवाहे को पकड़कर मंदिर लेकर पहुंचा।

जहां माता के दर में धोखे से कुल्हाड़ी मार कर हत्या कर दी। वारदात के दूसरे दिन पुलिस ने मृतक के लाश की शिनाख्ती की। इसके बाद आरोपी के बारे में खोजबीन शुरू की। तभी मुखबिर से पुलिस को पता चला कि एक आदमी के साथ मृतक लास्ट बार दिखा गया था। ऐसे में संदेह के आधार पर थाने लगाया गया। जहां लगभग आरोपी ने पुलिस के सामने गुनाह कबूल कर दी है। अब पुलिस 14 जुलाई को अधिकृत रूप से खुलासा करेगी।

ये है मामला

मिली जानकारी के मुताबिक 6 जुलाई को बेढ़ौआ गांव स्थित फूलमती माता मंदिर के दर में एक युवक की लाश ग्रामीणों ने देखी। पुलिस ने घटनास्थल की जांच की तो हत्या प्रतीत हुई। ऐसे में मुकदमा दर्ज कर मृतक के शव को पीएम के लिए अस्पताल भेजवाया। दूसरे दिन मृतक की शिनाख्त दिव्यांश कोल निवासी क्योटी के रूप में हुई। वहीं दूसरी तरफ एफएसएल यूनिट की जांच में कुल्हाड़ी से वार कर हत्या समझ में आई थी।

पुलिस जांच में निकला था दूसरा एंगल

बैकुंठपुर पुलिस ने हत्या के प्रकरण को दूसरे एंगल से जांच शुरू की। साथ ही बलि प्रथा समझकर आरोपी की तलाश शुरू की। तब समझ में आया कि आरोपी ने कुछ मन्नत आदि मांगी थी। हालांकि आरोपी को सफलता भी मिली है। इसके बाद आसपास के थानों की मदद लेकर लापता युवकों की तलाश शुरू की। तब पता चला कि दिव्यांश कोल कई दिनों से नहीं दिख रहा है। जांच आगे बड़ाई तो आरोपी का नाम सामने आया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.