शादी के बाद बहन को बुलाकर लौट रहे थे भाई: बीच रास्ते में हो गया बड़ा हादसा

0

शादी के बाद बहन को बुलाकर लौट रहे थे भाई:रीवा में तेज रफ्तार स्कार्पियो की टक्कर से स्कूटी सवार एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, दोनों आपस में चचेरे भाई

रीवा जिले के गढ़ थाना अंतर्गत कटरा-मऊगंज मार्ग में एक भीषण सड़क दुर्घटना हुई। इस हादसे में एक चचेरे भाई की मौके पर मौत हो गई। जबकि दूसरा भाई संजय गांधी अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रहा है। सूत्रों की मानें तो शादी के बाद बहन को सभी भाई उसकी ससुराल बुलाने गए थे। जहां चार पहिया वाहन में स्थान न मिलने पर दो चचेरे भाई स्कूटी में सवार होकर बीती शाम गंगेव क्षेत्र से घुमा होते हुए जोधपुर लौट रहे थे।

तभी कोडाया नाला के पास तेज रफ्तार स्कार्पियो ने टक्कर मारकर दोनों को रौंद दिया। भीषण दुर्घटना में एक भाई की मौके पर मौत हो गई। हादसा देख राहगीरों ने डायल 100 और थाना पुलिस को सूचना दी। जानकारी के बाद पहुंची पुलिस ने घायल को एसजीएमएच भेजवाया है। जबकि मृतक के शव को नजदीकी अस्पताल में रखवा था। गुरूवार की दोपहर गढ़ पुलिस ने मर्ग कायम कर पीएम के बाद लाश परिजनों के सुपुर्द कर दी गई है।

ये है मामला :-गढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक आरके गायकवाड़ ने बताया कि बुधवार की देर शाम सोनू उपाध्याय स्कूटी में सवार होकर अपने चचेरे भाई कमलेश उपाध्याय दोनों निवासी जोधपुर थाना नईगढ़ी एक सप्ताह पहले हुई बहन की शादी के बाद ससुराल से बुलाकर लौट रहे थे। इसी बीच कोडाया नाला के समीप स्कार्पियो क्रमांक एमपी 17 सीसी 2282 ने लापरवाही पूर्वक टक्कर मारते हुए दोनों को रौंद दिया था। इस दुर्घटना में कमलेश उपाध्याय की मौत हो गई है। जबकि सोनू उपाध्याय बुरी तरह से जख्मी है।

हरीश शर्मा के नाम है स्कार्पियो का रजिस्ट्रेशन:परिवहन विभाग के अनुसार एमपी 17 सीसी 2282 स्कार्पियो हरीश शर्मा निवासी रायपुर कर्चुलियान के नाम आरटीओ के रिकार्ड में दर्ज है। सूत्रों का दावा है कि हरीश शर्मा जनपद नईगढ़ी में इंजीनियर है। हालांकि गुढ़ पुलिस ने दावा किया है कि गुरुवार को टोचन कर स्कार्पियो को थाने लाकर खड़ा कराया जा रहा है। साथ ही आगे विधि संवत कार्रवाई की जाएगी।

परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप आरोप है कि कुछ दिनों पहले मृतक कमलेश से जोधपुर ग्राम पंचायत में मजदूर की जगह मशीनों से कार्य करने पर जनपद नईगढ़ी के इंजीनियर हरीश शर्मा से कहासुनी हुई थी। चर्चा है कि अमृत सरोबर तालाब में भ्रष्टाचार उजागर करने पर जान बूझकर स्कार्पियो से रौंदा गया है। वहीं हादसे के बाद स्थानीय पुलिस आरोपी को गिरफ्तारी करने के बजाय बचाती नजर आई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.