सीधी जिले के हटवा बरहा टोला में झोलाछाप डॉक्टर खुलेआम बांट रहे हैं मौत, जिम्मेदार जानबूझकर बने गांधारी

0

 

सीधी जिले में इन दिनों झोलाछाप डॉक्टर खुलेआम मौत बांट रहे हैं और जिम्मेदार कोई भी ठोस कदम नहीं उठा रहे हैं। मामला सीधी जिले के सिहावल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत हटवा बरहा टोला बाजार का है जहां पर 1-2 नहीं बल्कि 5-6 की संख्या में झोलाछाप डॉक्टर अवैध रूप से बिना किसी डिग्री डिप्लोमा के खुलेआम दवाई कर रहे हैं।

बिना किसी भी प्रकार के जांच के करते हैं दवा:- हटवा बरहा टोला के सभी झोलाछाप डॉक्टर बिना किसी जांच परख के ही भगवान भरोसे दवाई कर रहे हैं क्षेत्र में नहीं है एक भी पैथोलॉजी लैब नहीं है जिससे कि मरीजों का सही तरीके से जांच हो सके, वही अंदाज बस मरीज की हालत को देखकर यह झोलाछाप डॉक्टर दवाई कर रहे हैं।

पड़ताल के दौरान पता चला कि एक बनारस से आए हुए झोलाछाप डाक्टर प्रदीप बिंद हटवा बरहा टोला बाजार में अपनी दुकान सजाकर बैठे हैं तथा ना तो उनके क्लीनिक के सामने किसी भी प्रकार का बोर्ड लगा हुआ है ना ही किस नाम से उनकी क्लीनिक संचालित है किसी को पता नहीं है।

क्षेत्र के दबंग व्यक्तियों में बनाते हैं पहले अपनी पकड़:- बता दें कि जितने भी झोलाछाप डॉक्टर होते हैं वह जहां पर अपनी दुकान सजा कर बैठते हैं वहां के एक स्थानीय दबंग व्यक्ति को पकड़कर अपने साथ में रखते हैं जिससे कि किसी भी समय पर अगर कोई अधिकारी या विभागीय कर्मचारी उन पर कोई कार्यवाही ना कर सके।

सरपंच का मिला है आश्रय:- झोलाछाप डॉक्टर प्रदीप बिंद ने बताया है कि हम यहां पर हटवा बरहा टोला के सरपंच अजय पटेल की सरपरस्ती में है हमारा कोई कुछ भी नहीं कर सकता है सभी अधिकारी, कर्मचारी हमारी जेब में है और यहां तक कि सिहावल से लेकर सीधी तक हमारा पैसा जाता है ।

विगत दिनों बहरी तहसील क्षेत्र के ग्राम अमरपुर में झोलाछाप डॉक्टर के उपचार से हुई थी मरीज की मृत्यु:- ज्ञात हो कि 29 अप्रैल 2022 को झोलाछाप डॉक्टर के गलत उपचार से ग्राम अमरपुर में एक मरीज की मृत्यु हो गई थी इसके बावजूद भी झोलाछाप डॉक्टरों के हौसले कम नहीं हो रहे हैं क्योंकि उनकी जेब में सभी अधिकारी और कर्मचारी हैं।

स्वास्थ्य विभाग कर रहा है अभी और घटनाओं का इंतजार:-बता दें कि विगत कुछ समय में जिस तरह से झोलाछाप डॉक्टरों के गलत उपचार से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिहावल अंतर्गत विभिन्न ग्रामों में मरीजों की मृत्यु हुई है तथा बिना जांच परख के झोलाछाप डॉक्टर मरीजों की अंदाज के हिसाब से दवाई कर रहे हैं ऐसे हालात में जल्द ही केस देखने को मिल सकते हैं।

इनका कहना है

झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्यवाही के लिए टीम गठित की गई है हटवा बरहा टोला में अवैध रूप से संचालित क्लीनिक तथा झोलाछाप डॉक्टर प्रदीप बिंद के खिलाफ जल्द ही कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

डॉ. आर. के. शर्मा

खंड चिकित्सा अधिकारी सिहावल

Leave A Reply

Your email address will not be published.