FB पर पाकिस्तानी के टच में आई रीवा की टीचर:पिता बोले- मैसेंजर पर कॉल आया तब पता चला लड़का पाकिस्तानी है

0

FB पर पाकिस्तानी के टच में आई रीवा की टीचर:पिता बोले- मैसेंजर पर कॉल आया तब पता चला लड़का पाकिस्तानी है…

तरहटी मोहल्ले में फिजा के घर से पहले इस नाम की कई लड़कियां मिलीं। एक घंटे बाद हनुमान मंदिर के बगल वाले रास्ते की गली में कुछ युवा मिले। नाम पूछने पर बोले- हां, इसी मोहल्ले की फिजा पाकिस्तान जा रही थी। घर के बाहर फिजा के पिता मिल गए। बोले- बेटी जब घर आ जाएगी, तब मीडिया से बात करेंगे। अभी सिर्फ इतना मालूम है कि वह पाकिस्तान जा रही थी।

फिजा ने 3 महीने पहले मार्च में पासपोर्ट बनवा लिया था। पासपोर्ट उसे भोपाल से इश्यू हुआ। फिजा 14 जून को घर से भागी थी। इसके बाद 22 जून को ही 90 दिन का कराची के लिए वीजा जारी हुआ।

दो बहन और भाई में सबसे बड़ी

पिता ने बताया कि 23 साल की फिजा घर में सबसे बड़ी बेटी और होनहार है। घोघर स्थित कॉन्वेंट स्कूल में टीचर है। 19 साल की छोटी बेटी (दूसरे नंबर की) GDC कॉलेज में पढ़ रही है। छोटा बेटा 18 साल का है। कब बेटी का पासपोर्ट बन गया? कब ​पाकिस्तानी युवक से बात शुरू की? पता नहीं चला। पिता किराना दुकान चलाते हैं।

फिजा 14 जून को घर से भागी थी। इसके बाद 22 जून को ही 90 दिन का कराची के लिए वीजा जारी हुआ। वीजा सिर्फ कराची के लिए बना है।

युवती को अमृतसर में पकड़ लिया गया है।

14 जून को फिजा लापता हो गई

पिता ने पुलिस को बताया कि 14 जून को फिजा लापता हो गई। शाम को बेटे के मोबाइल पर फेसबुक मैसेंजर पर फोन आया, लेकिन बात नहीं हो सकी। दिलशाद खान नाम से शंका हो गई। ऐसे में तुरंत सिटी कोतवाली थाने पहुंचकर गुमशुदगी दर्ज कराई। पुलिस ने मोबाइल को ट्रैस करना शुरू किया। साइबर सेल की मदद से पता चला कि फेसबुक मैसेंजर से फोन करने वाला युवक दिलशाद खान पाकिस्तानी है।

पुलिस ने जांच बढ़ाई तो पासपोर्ट का पता चला

मामले में पुलिस ने जांच बढ़ाई, तो पता चला कि युवती का दो महीने पहले पासपोर्ट जारी हुआ है। ऐसे में शंका बढ़ती गई। दूसरी तरफ पुलिस ने युवती के फेसबुक मैसेंजर की जांच की। इसमें पता चला कि कई महीने से वह पाकिस्तानी युवक से बात कर रही है। युवती ने ये बात दो लोगों को बताई थी, जो मोबाइल में पाकिस्तानी युवक की फोटो भी देख चुके

युवती को लेने के लिए रीवा पुलिस अमृतसर पहुंच गई है।

सभी एयरपोर्ट, बंदरगाहों और अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर निगरानी रखी

फेसबुक मैसेंजर में लगातार युवती के भाई के मोबाइल पर पाकिस्तानी नंबर से फोन आ रहा था। ऐसे में 20 जून को साइबर सेल की जांच पूरी होने के बाद लुक आउट नोटिस (LOC) जारी किया गया। पुलिस मुख्यालय भोपाल द्वारा (LOC) सभी एयरपोर्ट और बंदरगाहों के साथ अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर को सूचित किया था। तब 25 जून को सफलता मिली है। टीम अमृतसर गई है। वहां से आने के बाद पूरे मामले का खुलासा हो पाएगा।

ये है मामला…

सोशल मीडिया पर दोस्ती के बाद बॉयफ्रेंड से मिलने पाकिस्तान जा रही युवती को पंजाब पुलिस ने अटारी बॉर्डर पर गिरफ्तार किया है। 23 साल की युवती का नाम फिजा खान है। वह मध्यप्रदेश के रीवा जिले की रहने वाली है। युवती के पास पाकिस्तान जाने का वीजा भी था, लेकिन पाकिस्तान जाने से पहले ही उसके नाम का लुक आउट सर्कुलर जारी हो गया। कस्टम विभाग और बीएसएफ के अधिकारियों ने अटारी बॉर्डर पर युवती को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। रीवा पुलिस युवती को वापस ले जाने के लिए अमृतसर पहुंच गई है।

युवती की कहानी 14 जून से शुरू होती, जब वह अपने घर से डॉक्यूमेंट और पासपोर्ट लेकर भाग गई। उसके परिवार वालों ने रीवा कोतवाली थाना में शिकायत दर्ज करा दी। युवती का पासपोर्ट भी गायब था जिसके बाद परिवार ने तुरंत पुलिस के जरिए फिजा के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी करवा दिया, ताकि वह विदेश न भाग सके।

पासपोर्ट के लिए पुलिस वेरिफिकेशन जरूरी प्रोसेस

किसी भी नागरिक को पासपोर्ट जारी करने से पहले पुलिस वेरिफिकेशन एक जरूरी प्रक्रिया है। इसके बिना पासपोर्ट जारी नहीं किया जाता। वैसे जब पासपोर्ट के लिए अप्लाई करते हैं, तो आपकी दी गई सूचनाओं को जांचने के लिए पुलिस व्यक्तिगत तौर पर आपके घर पहुंचती है। इस दौरान पुलिस आपका क्रिमिनल रिकॉर्ड क्या रहा है? जैसी बातों की जांच करती है। इसके अलवा अगर आवेदक के खिलाफ कोई पुलिस या कोर्ट केस लंबित है, तो पुलिस इसके बारे में पूरी जानकारी लेकर पासपोर्ट ऑफिस को पहुंचाती है।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.