विधायक को जमीन पर बैठने से दो पुलिसकर्मी सस्पेंड, जाने पूरा मामला

0

MP News : आगर की राजनीति में गुरुवार को अचानक भूचाल आ गया। जहां विधायक और पदाधिकारी अपना गुस्सा जाहिर करते दिखे। यहां विधायक मांगों को लेकर एसपी कार्यालय में धरने पर बैठ गए, इस मामले को बढ़ता देख एसपी ने तुरंत 2 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। इसके बाद विधायक पैसे वापस लेने पर अड़ गये। वहीं पुलिस अधीक्षक ने बताया कि कोतवाली थाने में तैनात हेड कांस्टेबल राधेश्याम कारपेंटर और नरेंद्र भट्टी को बर्खास्त कर दिया गया है और पूरी घटना की विस्तृत जांच भी की जा रही है।

क्या है पूरा मामला?

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शहर के एक निजी चिकित्सक डॉ. नरेंद्र सिंह राजपूत ने एएजाज पिता रहमान खान से जमीन का सौदा किया था, जिसमें एजाज ने सही स्थिति न बता कर और गिरवी रखी जमीन की रजिस्ट्री करा कर क्रेता के साथ 1 करोड़ रुपये से ज्यादा रकम की धोखाधड़ी कर दिया। जिसकी पिछले मार्च में कोतवाली थाने में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई थी। लेकिन पुलिस ने दो महीने बाद 3 लाख रुपये लेकर केस दर्ज करती है।

एसपी कार्यालय में फर्स पे क्यों बैठे विधायक?

फरियादी ने घटना की जानकारी विधायक को दी तो विधायक मधु गेहलोत ने अन्य अधिकारियों को सूचना दी और कुछ ही देर में सैकड़ों कार्यकर्ता और पदाधिकारी एसपी कार्यालय पहुंच गए। जहां एक के बाद एक प्याज के छिलके जैसी घटना सामने आती रहती है। सत्ता पक्ष के लोगों ने आक्रोश जताया। यहां स्थिति यह थी कि विधायक और अन्य अधिकारी फर्श पर बैठ गये, तो एसपी विनोद कुमार सिंह भी जमीन पर बैठ गये और दोनों पुलिसकर्मियों को तत्काल बर्खास्त करने का आदेश दिया। जब पैसे लौटाने पर सहमति बनी तब जाकर विधायक का गुस्सा शांत हुआ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.