रीवा जिले के बोरवेल को लेकर सीएम मोहन यादव का कलेक्टर के लिए निर्देश, अब नहीं चल पाएंगे ऐसे बोर

0

Rewa News: 12 अप्रैल 2024 को त्योंथर के मनिका गांव में एक 6 वर्ष का मासूम बोरवेल के गहरे गड्ढे में गिर गया। इसके बाद पूरे जिले में हड़कंप मच गया रीवा कलेक्टर और एसपी को घटना की सूचना दी गई तत्काल पहुंचे प्रशासन ने रेस्क्यू अभियान जारी कर दिया। वह मुख्यमंत्री मोहन यादव ने निर्देश दिए हैं. ये अत्यंत दुखद है ,मैंने प्रशासन को पहले भी निर्देश दिए हैं दोबारा निर्देश देता हूँ। कोई भी क्षेत्र में ऐसे बोरवेल हो तो उन्हें तुरंत बंद करवाए

रीवा बोरवेल हादसा के बीच सेमरिया विधायक अभय मिश्रा की हालत खराब, संजय गांधी अस्पताल में भर्ती

बोरवेल में गिरा 6 साल का मासूम

12 अप्रैल 2024 की शाम खेत में गेहूं की बाली बिन रहे 6 वर्ष मासूम अचानक पैर फिसलने की वजह से बोरवेल के गड्ढे में गिर गया घटना की सूचना रीवा प्रशासन को दी गई रीवा कलेक्टर और एसपी घटनास्थल पर पहुंचे तथा एसडीआरएफ और एनडीआरएफ टीम को बुलाया गया 13 अप्रैल तक लगातार रेस्क्यू अभियान जारी है हालांकि अभी तक प्रशासन को सफलता नहीं मिली है, वही त्योंथर विधायक सिद्धार्थ तिवारी घटना के बाद आज दिनांक तक मौजूद है उपमुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ल ने भी घटनास्थल का पूरा जायजा लिया तथा दिशा निर्देश दिए

मुख्यमंत्री ने दिया कलेक्टर को निर्देश

घटना की जानकारी जैसे ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव को मिली तो उन्होंने एक बयान जारी किया जिसमें बच्चों को रेस्क्यू करने के लिए टीम लगाने को कहा, उन्होंने कहा कि बारिश और मिट्टी में धज होने की वजह से ऑपरेशन में काफी समस्याएं आ रही हैं उम्मीद कर रहा हूं कि प्रशासन पूरी ताकत के साथ हमारे बालक को बचाएंगे, उन्होंने आगे कहा कि विधायक सिद्धार्थ तिवारी मौके पर मौजूद हैं कलेक्टर और एसपी से मेरी बात हुई है,

बोरवेल को लेकर सीएम के निर्देश

मुख्यमंत्री डॉक्टर मोहन यादव के द्वारा घटनाक्रम का दुख जताते हुए रीवा कलेक्टर को निर्देश दिए हैं उन्होंने कहा कि अत्यंत दुखद है मैंने प्रशासक को पहले भी निर्देश दिए हैं दोबारा देता हूं कोई भी क्षेत्र में ऐसे बोरवेल हो तो उन्हें तुरंत बंद करवा दें खास तौर पर ऐसे जो सूखे बोरवेल हैं जिनमें पानी नहीं आता उनके वजह से कई जिंदगियां नुकसान होती हैं कोशिश करेंगे कि आने वाले समय में ऐसी घटनाएं दोबारा ना हो

Leave A Reply

Your email address will not be published.