रिश्वत न देने पर धान मिलिंग प्रभारी सैंपल कर रहे फ़ैल, नोटी हुआ जारी

0

Rewa News : रीवा के नागरिक आपूर्ति निगम में धान मिलिंग फर्जीवाड़े के मामले में मिलिंग प्रभारी को नोटिस जारी किया गया है। जिसके ऊपर चावल वितरण में धांधली का भी आरोप लगाया गया है। इस मामले में सर्वेक्षक की भी नौकरी चली गयी।मिलिंग प्रभारी प्रियांश पाठक को धान आवंटन एवं सीएमआर के साथ-साथ रैंक परिवहन, धान भंडारण आदि की जिम्मेदारी दी गई है।

रिश्वत न मिलने पर सैंपल हो रहा फ़ैल

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक आरोप लगाया गया है कि मिलिंग प्रभारी द्वारा मनमाना काम किया जा रहा है। इस संबंध में नान जिला प्रभारी एवं अपर कलेक्टर सपना त्रिपाठी ने मिलिंग प्रभारी प्रियांश पाठक को नोटिस जारी किया है। अपर कलेक्टर के छुट्टी पर जाने पर मार्केटिंग एसोसिएशन की प्रभारी शिखा वर्मा को यह जिम्मेदारी दी गई। शिखा वर्मा के प्रभारी होने के बावजूद प्रियांश पाठक पर नोट्स की सीट मनमाने ढंग से चलाने का आरोप लगा है। महावीर राइस मिल संचालक का आरोप है कि रिश्वत न देने पर उसका चावल का सैंपल जानबूझ कर फेल किया गया है।

जवाब के बाद अपर कलेक्टर ने क्या कहा ?

प्रभारी नान जिला प्रबंधक ने जेपी गोदाम के सर्वेयर अतुल दीक्षित के खिलाफ कार्रवाई के लिए संबंधित आउटसोर्स कंपनी को पत्र लिखा। जिसके मद्देनजर कंपनी के सर्वेक्षक को सेवा से हटाने की कार्रवाई की गई और उससे जवाब मांगा गया। जवाब में सर्वेयर अतुल दीक्षित ने कहा कि उन्होंने धान फेल नहीं किया है। बल्कि दबाव में आकर बैठक प्रभारी प्रियांश पाठक ने मनमाने तरीके से उनकी आईडी और पासवर्ड फेल कर दिया। इससे पहले अपर कलेक्टर व नान प्रभारी के डिजिटल हस्ताक्षर का दुरपयोग किए जाने का भी मामला सामने आया था जिसमें उन्होंने नोटिस जारी किया था। अभी जारी नोटिस में परिवीक्षा अवधि बढ़ाने और बर्खास्तगी की कार्रवाई करने को कहा गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.