Sidhi news: सीधी जिले के शिक्षा विभाग का नटवरलाल, भाई की जगह कर रहा नौकरी, शिक्षा विभाग को नहीं लगी भनक

शिक्षा विभाग में चल रही तरह-तरह की चर्चाएं

0

Sidhi news: सीधी जिले के शिक्षा विभाग का नटवरलाल, भाई की जगह कर रहा नौकरी, शिक्षा विभाग को नहीं लगी भनक।

प्रथम न्याय न्यूज़ सीधी। सीधी जिले का नाम तो सीधी है लेकिन यहां पर हमेशा काम टेढ़ा होता है और इसी टेढ़े काम की वजह से पूरे प्रदेश भर में सीधी जिला सुर्खियों में बना रहता है चाहे वह पेशाब कांड हो या फिर अब शिक्षा विभाग का नटवरलाल जो लगातार दूसरे की जगह नौकरी कर रहा है और शिक्षा विभाग को इसकी भनक तक नहीं लगी है।

विगत दो वर्ष से कर रहा है भाई की जगह नौकरी

सीधी जिले के जनपद शिक्षा केंद्र सिहावल अंतर्गत एक सरकारी स्कूल में एक व्यक्ति अपने भाई की जगह शिक्षक की नौकरी कर रहा है एवं उसका भाई कहीं अन्यत्र नौकरी कर रहा है तथा यह सिलसिला पिछले 2 वर्ष से चल रहा है जिसकी भनक शिक्षा विभाग को नहीं लग पाई।

प्रधानाध्यापक ने कहा नहीं है कोई गलत कार्य

वही इस पूरे मामले को लेकर प्रधानाध्यापक का कहना है कि जो व्यक्ति नौकरी करता है वह शाला में अध्यापन के लिए आता है तथा जब वह किसी कारणवश नहीं आता तब उसका भाई आता है। ऐसे में सवाल यही खड़ा हो रहा है कि प्रधानाध्यापक की शह से यह पूरा खेल चल रहा है जो उन्हें किसी भी तरह से गलत नहीं लगता।

सेवाकालीन प्रशिक्षण में भी शामिल हुआ नटवरलाल

पूरे मध्य प्रदेश में विगत एक माह से माध्यमिक शाला के शिक्षकों का सेवाकालीन प्रशिक्षण कराया जा रहा था। वही चल रहे इस प्रशिक्षण के पांचवें बैच में जनपद शिक्षा केंद्र सिहावल में जाकर नटवरलाल अपने भाई की जगह प्रशिक्षण प्राप्त कर लिया जिसकी भनक शिक्षा विभाग को नहीं लग पाई।

खुलासे के बाद कई लोग खा सकते हैं जेल की हवा

वहीं इस खुलासे के बाद कई लोग जेल की हवा खा सकते हैं खासकर संबंधित विद्यालय के प्रधानाध्यापक एवं शिक्षक की नौकरी कर रहे दोनों भाई। वही दिलचस्प बात यह है कि नटवरलाल भाइयों के पिता भी एक सरकारी शिक्षक हैं। ऐसे में वह अपने बच्चों को इस तरह से छूट कैसे दे सकते हैं।

अधिकारियों की भूमिका संदिग्ध

इस बात को नकारा नहीं जा सकता है कि इस पूरे खेल में संबंधित शिक्षा विभाग के तमाम अधिकारियों की मिली भगत है अन्यथा पिछले दो वर्ष से यह पूरा खेल चल रहा था और किसी को भनक नहीं लगी अधिकारियों के द्वारा अगर शाला का निरीक्षण किया जाता रहा होगा तो निश्चित तौर पर उन्हें इसकी जानकारी होगी और अगर उन्हें इसकी जानकारी नहीं है तो वह नटवरलाल भाइयों एवं संबंधित प्रधानाध्यापक के खिलाफ क्या कार्रवाई करेंगे यह देखना दिलचस्प होगा।

नोट- फिलहाल आप दिल खोल कर बन रहे प्रथम न्याय न्यूज़ के साथ पूरा खुलासा होगा अगले प्रकाशन में।

Leave A Reply

Your email address will not be published.