अब देश में लड़ाई ‘बिकाऊ’ व ‘टिकाऊ’ के बीच में है, मीडिया इस लोकतंत्र की हत्या पर मौन क्यों है ? “

0

अब देश में लड़ाई ‘बिकाऊ’ व ‘टिकाऊ’ के बीच में है, मीडिया इस लोकतंत्र की हत्या पर मौन क्यों है ? “

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने मीडिया को निशाने पर लिया है और मौन रहने का आरोप भी लगाया है. वहीं, भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. हितेष वाजपेयी ने कांग्रेस के नेताओं को बिकाऊ बताया है. पूर्व मुख्यमंत्री सिंह ने बीते दिनों भोपाल के जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में कांग्रेस समर्थित जिला पंचायत सदस्यों के पाला बदलने को लेकर हमला बोला है, साथ ही कांग्रेस समर्थित सदस्यों के भाजपा समर्थित जिला पंचायत अध्यक्ष का समर्थन करने को खरीद-फरोख्त से जोड़ा है.

पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा,

“29 जुलाई को भोपाल जिला परिषद के चुनाव की सच्चाई. दूसरी तरफ भाजपा व मीडिया का झूठ. हमने शुरू से कहा था, भोपाल जिला परिषद चुनाव में 10 में से 8 कांग्रेस के सदस्य चुनकर आए. भाजपा के पास चुनाव लड़ने के लिए कोई उम्मीदवार ही नहीं बचा.”

‘अब देश में लड़ाई ‘बिकाऊ’ व ‘टिकाऊ’ के बीच’

: दिग्विजय सिंह ने आगे कहा, कांग्रेस के आठ जिला परिषद सदस्यों में से चार बिक गए. उनमें से एक बन गया अध्यक्ष व दूसरा बन गया उपाध्यक्ष. 10 जिला परिषद के निर्वाचित सदस्यों में से केवल छह ही स्वयं वोट दे पाए. पूर्व मुख्यमंत्री ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “अब देश में लड़ाई ‘बिकाऊ’ व ‘टिकाऊ’ के बीच में है. लोकतंत्र बचाना है तो ‘टिकाऊ’ को चुनो. ये बिकाऊ लोग जो जनमत को बेच रहे हैं, वे सही कीमत मिलने पर देश को नहीं बेच देंगे ? संघ-भाजपा को लोकतंत्र में कभी भरोसा नहीं रहा.

दिग्विजय सिंह ने मीडिया को भी निशाने पर लिया और कहा,

“मीडिया इस लोकतंत्र की हत्या पर मौन क्यों है ? डरा हुआ है या बिकाऊ है ? फैसला जनता को करना है, क्या यह लोकतंत्र का अपमान नहीं है ? क्या यह भाजपा के दोनों निर्वाचित सदस्यों का भी अपमान नहीं है ? अब समय दूर नहीं, जब विधानसभा व लोकसभा में भी वो वोट डालने के लिए अधिकृत कर दिए जाएं जो चुनाव भी न लड़े हों!! ”
भाजपा का हमला: दूसरी ओर, भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. हितेष वाजपेयी ने दिग्विजय सिंह के ट्वीट को टैग करते हुए लिखा, “लो पत्रकार साब! आप सबको दिग्विजय सिंह ‘बिकाऊ’ मानते हैं, जबकि ‘बिकते कांग्रेसी’ हैं ! नोट, नेताओं के घर से उगले जा रहे हैं, और बिकाऊ पत्रकार हैं ?”

Leave A Reply

Your email address will not be published.