एक्शन में धाकड़ की टीम:लोकायुक्त पुलिस ने 2 दिन में 5 भ्रष्टाचारियों को किया बेनकाब, सिंगरौली में पुलिसकर्मी, तो रीवा में 4 अधिकारी ट्रेप

0

एक्शन में धाकड़ की टीम:लोकायुक्त पुलिस ने 2 दिन में 5 भ्रष्टाचारियों को किया बेनकाब, सिंगरौली में पुलिसकर्मी, तो रीवा में 4 अधिकारी ट्रेप

रीवा लोकायुक्त पुलिस ने 2 दिन में 5 भ्रष्टाचारियों को बेनकाब किया है। गुरुवार को सिंगरौली में प्रधान आरक्षक को तो शुक्रवार को रीवा में चार अधिकारियों काे रिश्वत लेते हुए पकड़ा है। पहली कार्रवाई सिंगरौली जिले के देवसर न्‍यायालय परिसर में हुई। जहां पुलिसकर्मी को 5 हजार रुपए की रिश्वत के साथ धर दबोचा था।

दूसरी दबिश महिला एवं बाल विकास ऑफिस मऊगंज में दी गई। यहां मध्‍यान्‍ह भोजन का बिल पास कराने के एवज में परियोजना अधिकारी माया सोनी और सेक्टर पर्यवेक्षक अंजू त्रिपाठी को 10 हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। हालांकि इन दोनों ने 20 हजार रुपए की डिमांड की थी।

इसी तरह तीसरी छापामार कार्रवाई में अनंतपुर गृह निर्माण सहकारी समिति के प्रबंधक संतोष दुबे और गोमेश द्विवेदी के डायरेक्टर व सदस्य को 25 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा। फिलहाल पांचों आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

केस:1

लोकायुक्त एसपी गोपाल सिंह धाकड़ ने बताया कि विदयासागर प्रजापति पुत्र रामकरण (32) निवासी ग्राम पोडी 3 दुधमनिया जिला सिंगरौली ने एक भ्रष्टाचार की शिकायत दर्ज कराई। उसने बताया कि मारपीट के एक मामले में समझौता कराने के लिए आरोपी प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका पुलिस चौकी गोनर्रा थाना बरगवां जिला सिंगरौली 5 हजार रुपए मांग रहा। ऐसे में 19 मई को देवसर न्‍यायालय परिसर से रकम के साथ ट्रेप किया है।

केस:2

लोकायुक्त सूत्रों की मानें तो शिकायतकर्ता राजेश वर्मा पुत्र सहदेव दास (41) निवासी वार्ड नंबर 06 मऊगंज जिला रीवा से मध्यान भोजन का बिल पास कराने के एवज में 20 हजार रुपए मांगा जा रहा था। जिसके बाद 20 मई को माया सोनी परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास कार्यालय मऊगंज और अंजू त्रिपाठी सेक्टर पर्यवेक्षक महिला एवं बाल विकास कार्यालय मऊगंज को 10 हजार रुपए की रकम के साथ गिरफ्तार किया है।

अनंतपुर गृह निर्माण सहकारी समिति के प्रबंधक और डायरेक्टर।

केस:3

अशोक कुमार मिश्र (63) निवासी वार्ड नंबर 10 गायत्री नगर मेन रोड लोकायुक्त एसपी के पास शिकायत की। कहा कि पुत्र के नाम प्लाट की रजिस्ट्री कराने के लिए अनंतपुर गृह निर्माण सहकारी समिति रीवा की एनओसी जारी करने के एवज में रिश्वत मांगी जा रही है। ऐसे में 20 मई को आरोपी संतोष दुबे प्रबंधक अनंतपुर गृह निर्माण सहकारी समिति मर्यादित रीवा

और गोमेश द्विवेदी डायरेक्टर एवं सदस्य अनंतपुर गृह निर्माण सहकारी समिति मर्यादित रीवा को 25 हजार की रकम के साथ रंगेहाथ पकड़ा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.