प्रॉपर्टी विवाद को लेकर पहली पत्नी ने करवाया पति का मर्डर, सिर काटकर खेत में छुपाया

0

प्रॉपर्टी विवाद को लेकर पहली पत्नी ने करवाया पति का मर्डर, सिर काटकर खेत में छुपाया

रीवा। पुलिस ने शनिवार को एक अंधी हत्या का खुलासा किया है. बीते 9 दिन पूर्व जिले के नईगढ़ी थाना क्षेत्र स्थित सिगदहा पुल के नीचे एक युवक के हाथ का पंजा और सिर कटी लाश मिली थी. पुलिस ने गुमशुदा हुए लोगों की जानकारी जिले के अन्य थानों में पहुंचाई. इसके बाद मृतक के परिजन शव की शिनाख्त करने के लिए थाने पहुंचे. मृतक के पैर के मोजों से उसकी पहचान की गई.

बेरहमी से की गई थी युवक की हत्या : दरअसल, युवक की बेरहमी से हत्या की गई थी. बाद में धारदार हथियार से उसके हाथ का पंजा और सिर को धड़ से अलग किया था. पुलिस ने युवक के शव को शिनाख्त करने के लिए उसके कटे हुए सिर और कटे हुए हाथ के पंजे को काफी ढूंढ़ने का प्रयास किया लेकिन वह सफल नहीं हो पाए. पुलिस ने एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाया और साक्ष्य एकत्रिक कर पंचनामा बनाया. पंजा और सिर कटी लाश की जानकारी घटना की जानकारी नई गढ़ी पुलिस ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दी.

परिजनों ने की शिनाख्त : इसके बाद एसपी नवनीत भसीन ने जिले के कई थानों को सूचना भिजवाई. कुछ दिनों बाद एक परिवार मृतक की शिनाख्त करने नईगढ़ी थाने पहुंचा. उन्हें मृतक की फोटो दिखाई गई. फ़ोटो देखकर उन्हें आशंका हुई कि यह शव उनके भाई गुलामुद्दीन उर्फ मंजू का है. इसके बाद उन्होंने मृतक की अंडरवियर और मोजे को देखने की बात कही. मोजों और मृतक के शरीर का कद देखकर उसके शव की शिनाख्त कर ली गई. जोकि गुलामुद्दीन उर्फ मंजू का ही था.

पहली पत्नी ने रची थी युवक की हत्या के साजिश : एसपी नवनीत भसीन ने बताया कि बीते दिनों युवक का शव नईगढ़ी थाना क्षेत्र स्थित सिगदहा पुल के नीचे मिला था, जिसकी शिनाख्त कर ली गई है. साथ ही युवक की बेरहमी से हत्या करने वालों की गिरफ्तारी भी की जा चुकी है. युवक की हत्या की साजिश उसकी पहली पत्नी कुरैश बानो ने ही रची थी. मृतक गुलामुद्दीन की पहली पत्नी सदर बाजार नई दिल्ली में रहती है और वारदात के कुछ दिन पहले ही वह रीवा के गढ़ पहुची थी.

जायदाद को लेकर विवाद : पहली पत्नी ने अपने भाई और भतीजे से कुल्हाड़ी से वार कर उसे मरवाया था. मृतक गुलामुद्दीन की पहली पत्नी जायदाद में हिस्सा न मिलने से नाराज थी. इसके चलते उसने उसकी हत्या की साजिश रची और वारदात में अपने भाई मो. अली उर्फ एजाज और मृतक के भतीजे महताब अहमद उर्फ गोलू को शामिल किया. वारदात की शाम मृतक गुलामुद्दीन नशे की हालत में था. दोनो आरोपी गुलामुद्दीन को बाइक में बिठाकर सिगदहा पुल ले गए और शराब पिलाने के बाद उसके साथ मारपीट करते हुए उसे पुल से नीचे फेंक दिया.

पुलिस को गुमराह करने का प्रयास : बाद में पुलिस को गुमराह करने के लिए कुल्हाड़ी से उसके हाथ का पंजा और सिर को धड़ से अलग कर दिया. सिर को बोरी में भरकर घटनास्थल से करीब 5 किलोमीटर दूर एक खेत मे छुपा दिया. पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपियों को जेल भेज दिया गया है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.