2012 से लेकर आज तक इस एकेडमी द्वारा 550 से 600 नौजवानों को देश की सेवा से जोड़ा गया

0

लेखक – अंकित शुक्ला प्रथम न्याय न्यूज़

बहादुर फिजिकल एकेडमी रीवा, ये वो द्वार है जहां से होनहार युवा देश के अलग अलग दल में अपनी सेवा दे रहे ,चाहे वो, इंडियन आर्मी,हो या नेवी,या फिर, वायुसेना ,और पुलिस आए दिन नौजवानों का चयन होता रहता है,बहादुर फिजिकल एकेडमी हजारों की संख्या में नौजाव ट्रेंड होते है और आगे निकल के देश की सेवा में अहम भूमिका निभाते है। सूत्रों के मुताबिक वर्ष 2012 से लेकर आज तक 550 नौजवान से लेकर 600 जवानों का देश सेवा के अन्य दलों में सिलेक्शन हुआ। 

बहादुर फिजिकल एकेडमी रीवा 

विंध्य की सबसे प्रसिद्ध एकेडमी के निर्माता बहादुर सर जो युवाओं को ट्रेनिंग देते है और उन्हें उस काबिल बनाते ताकि वो उस एकेडमी का नाम रोशन कर पाए और जिंदगी में आगे निकल पाए, सुबह होते ही बहादुर के नौजवान APS ग्राउंड में दौड़ लगाते ,वही ग्राउंड जहा से क्रिकेटर ईश्वर पांडे ,कुलदीप सेन का पसीना बहा है,जो आज अपने विंध्य नाम देश में बना रहे, 

बहादुर की सेना

बहादुर फिजिकल एकेडमी में आर्मी ,पुलिस, एसएससी, सीआरपीएफ ,बीएसएफ ,सीआईएसफ यूपीएसआई ,एयर फोर्स के लिऐ युवाओं को ट्रेनिंग दी जाती जिससे युवा आसानी से इन भर्तियों को निकल लेते है। इस एकेडमी में लडको के कदम से कदम मिलाकर लड़की भी दौड़ती है,हाल ही में यूपी एस,आई में में चयनित युवती बहादुर फिजिकल एकेडमी में ही ट्रेन हुई है 

यूपी एस,आई में हुआ चयन

यूपी एस,आई में चयनित अपर्णा दूबे वो उदाहरण है जो सम्पूर्ण रीवा और विंध्य की लड़किया कुछ मुकाम हासिल करना चाहती है। इस एकेडमी में अपर्णा दूबे जैसी कई लड़कियां है जो कुछ कर गुजरना चाहती है,जिसे मौका दे रहे बहादुर सर। सूर्य उदय के पहले इन युवाओं का उदय होता है ,हर ऋतु में हर हाल में सपने के लिऐ तपते है। शायद इस एकेडमी की इसी मेहनत से आज 600 बच्चों का जीवन बदल गया ।उन युवाओं के लिऐ प्रेणना स्त्रोत,तथा बहक चुके युवाओं के लिऐ एक मौका जो ,दूसरे रास्ते में चलके जीवन बर्बाद कर चुके है, बहादुर फिजिकल एकेडमी रीवा के APSU ग्राउंड में युवाओं को ट्रेनिंग दी जाती है,

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.