रीवा लोकायुक्त की बड़ी कार्यवाही जनपद CEO को ₹10,000 की रिश्वत लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तार!

0

 

 

 

रीवा लोकयुक्त पुलिस की बडी कार्यवाही सितंबर 2023 में करकेली जिला पंचायत का प्रभार मुख्य कार्यपालन अधिकारी को दिया गया उसके पहले और बाद में करकेली जनपद में भ्रष्टाचार का बोलबाला रहा, न तो जिला पंचायत ने कभी शिकायतों पर संज्ञान लिया और न ही जिला पंचायत ने भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के कदम यह अलग बात है कि जिला पंचायत अध्यक्ष अपने ही कर्मचारियों की ओर से कह रहे हैं कि जिला पंचायत में अच्छा काम हो रहा है इसलिए पंचायत पदाधिकारियों को पुरस्कृत किया जा रहा है।

Ladali Bahna Yojana: इन महिलाओं का कट गया लाडली बहना योजना से नाम नहीं मिलेगा 9वी किस्त का पैसा

लेकिन लोकायुक्त द्वारा लिए गए फैसले से यह साफ हो गया है कि पंचायत में भ्रष्टाचार किस हद तक पहुंच चुका है हालाँकि यह स्थिति केवल करकेली जनपद की नहीं है पिछले वर्ष बिरसिंहपुर पाली और मानपुर जनपद पंचायत में भी जमकर भ्रष्टाचार हुआ है जिसकी शिकायतें सोशल मीडिया, मीडिया और अन्य माध्यमों के माध्यम से जिला स्तर के अलावा जनता तक पहुंची हैं।

सेवक भ्रष्टाचार को खुली आंखों से देख रहे हैं अब ये भ्रष्टाचारी राख में तब्दील हो रहे हैं जिनके लिए जिला स्तर से लेकर जिला स्तर तक जिम्मेदार कार्रवाई के बजाय पुरस्कार दिलाने का दंभ भरते हैं अब वे ही लोक सेवकों को बेनकाब कर रहे हैं।

करकेली जनपद में पदस्थ मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रेरणा परमहंस को लोकायुक्त दल ने गुरुवार को रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया बताया गया है कि सीईओ ने ग्राम पंचायत बहरावाह के सरपंच प्रमोद यादव से 10 हजार रुपये की रिश्वत मांगी थी इस मामले में पहले सरपंच ने लोकायुक्त से शिकायत की फिर सरपंच ने सीईओ से शिकायत की जिस पर रीवा लोकायुक्त टीम ने सीईओ को गिरफ्तार कर लिया।

यह कार्रवाई जिला मुख्यालय के नियंत्रण कक्ष के पास उनके निवास पर की गई, दिलचस्प बात यह है कि सीईओ ने अपने निवास पर ही सरपंच से रिश्वत ली।

Rewa News: रीवा को मिली एक और ट्रेन की बड़ी सौगात जल्द शुरू होगी रीवा-गोविंदगढ़ ट्रेन विंध्य वासियों को मिलेगा लाभ!

Leave A Reply

Your email address will not be published.