28 करोड़ की धोखाधड़ी करने वाले कार्यपालन यंत्री की बढ़ाई गई इनाम राशि

0

Fraud News : इंदौर नगर निगम के कार्यपालन यंत्री अभय राठौड़ पर पुलिस कमिश्नर राकेश गुप्ता ने इनाम राशि बढ़ाकर 25 हजार रुपये कर दिया है। यह 28 करोड़ की धोखाधड़ी कर चालाकी से सरकारी फाइलों में हेराफेरी करता था। वह स्वीकृत ठेके की रकम में हेरफेर कर उसे लाखों से करोड़ों में बदल देता था। पुलिस ने 35 से ज्यादा फाइलों में यह फर्जीवाड़ा पकड़ा है।

आरोपी कैसे करता था धोखाधड़ी?

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक जांच अधिकारी डीसीपी जोन 3 पंकज पांडे ने बताया की इस मामले में गिरफ्तार आरोपी राजकुमार साल्वी ने पूछताछ में बताया कि अभय राठौड़ उन फाइलों को ढूढ़ता था, जो काम स्वीकृत होते थे। उसके बाद वह उनके कार्य क्रम को बदल था। उन्होंने कहा कि वह आंकड़ों में हेराफेरी कर करोड़ों रुपये कमाता था। साल्वी ऑडिट शाखा का कर्मचारी मुरलीधरन बॉस की मदद से फर्जी फाइलें ऑडिट शाखा में जमा करवाता था।

आरोपी की तालाश में लगी कई टीमें

टीआई विजय सिंह सिसौदिया के मुताबिक घोटाले से संबंधित चार FIR दर्ज की गई हैं। जिसके लिए हीरानगर, ग्वालटाली, बाणगंगा, एमजी रोड और पुलिस लाइन के पुलिसकर्मियों की टीम बनाई गई है। एक टीम विश्लेषणात्मक कार्य करती है। दूसरा ग्रुप बैंक खातों और डेटा विश्लेषण से संबंधित कार्य में लगा हुआ है। छापेमारी और पूछताछ के लिए अलग-अलग टीमें बनाई गई हैं। पुलिस को जब राठौड़ की संपत्तियों की जानकारी मिली तो गुलाबबाग कॉलोनी, पवनपुरी और वार्ड नंबर 32 में मकान मिले हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.