Mauganj news: सेरोनेसिस नामक बीमारी से जूझ रही युवती का सहारा बने मऊगंज कलेक्टर, पीजीआई अस्पताल लखनऊ में होगा अब इलाज

अब जीवन होगा बेहतर

0

Mauganj news: सेरोनेसिस नामक बीमारी से जूझ रही युवती का सहारा बने मऊगंज कलेक्टर, पीजीआई अस्पताल लखनऊ में होगा अब इलाज।

मऊगंज। मऊगंज जिले के हनुमना अंतर्गत वार्ड क्रमांक 7 में रहने वाली खुशबू साकेत पिता राम शिरोमणि साकेत की मदद के लिए मऊगंज कलेक्टर अजय श्रीवास्तव ने मदद का हाथ बढ़ाया है। 14 वर्षीय कक्षा 8 में पढ़ने वाली खुशबू को अचानक सेरोनेसिस नामक बीमारी ने जकड़ लिया इसके बाद उसका जीवन काफी संघर्षपूर्ण हो गया है।

जानिए क्या है यह गंभीर बीमारी

सेरोनेसिस एक ऐसी गंभीर बीमारी है जो एक स्वस्थ्य मनुष्य को अगर अपने आगोश में एक बार ले लिया तो उसका जीवन उथल-पुथल हो जाता है शरीर की मांसपेशियां सिकुड़ जाती हैं और उसे चलने फिरने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है फिलहाल खुशबू कुछ इसी तरह की समस्या से जूझ रही है परंतु अब उसका जीवन बेहतर हो सके इसके लिए प्रशासन के द्वारा बड़े कदम उठाए जा रहे हैं।

सोशल मीडिया का दिखा असर

मऊगंज कलेक्टर अजय श्रीवास्तव ने बताया कि उसका जीवन पहले आम लोगों की तरह सामान्य था परंतु कुछ माह पूर्व उसे अचानक ऐसी बीमारी ने जकड़ लिया जिसका इलाज करा पाना परिजनों के लिए असंभव सा हो गया वहीं खुशबू के इलाज के लिए काफी परेशान थे और सोशल मीडिया के माध्यम से मऊगंज कलेक्टर से मदद की गुहार लगाई।

नागपुर हो रही थी दवाई

विदित हो कि खुशबू साकेत का इलाज नागपुर में हो रहा था और एक-एक इंजेक्शन की कीमत ₹20000 थी परंतु खर्च ज्यादा होने की वजह से परिजन ज्यादा दिन तक उसे नागपुर में नहीं रख पाए वही जैसे ही सोशल मीडिया के माध्यम से मऊगंज कलेक्टर को खुशबू के बीमारी के संबंध में जानकारी हुई वह तुरंत डॉक्टरों की टीम को लेकर उसके घर पहुंचे और उसे समुचित इलाज का आश्वासन दिया।

जल्द बनेगा खुशबू का आयुष्मान कार्ड

मऊगंज कलेक्टर ने बताया कि खुशबू का आयुष्मान कार्ड नहीं बना था जिसकी वजह से उसके इलाज में काफी अड़चनें आ रही थी जल्द ही उसका आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा और फिलहाल उसे उपचार के लिए संजय गांधी मेडिकल कॉलेज रीवा में भर्ती कराया जाएगा और जैसे ही आयुष्मान कार्ड बन जाएगा उसे पीजीआई अस्पताल लखनऊ के लिए उपचार हेतु भेजा जाएगा।

कलेक्टर के साथ पूरा प्रशासनिक व स्वास्थ्य का अमला रहा मौजूद

खुशबू के घर जब मऊगंज कलेक्टर पहुंचे तो उनके साथ पूरा प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य का अमला उनके साथ रहा उन्होंने मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी रीवा से दूरभाष पर बात करते हुए कहा कि रीवा में इसका समुचित इलाज कराएं। और जल्द ही उसे लखनऊ के लिए भेजा जाएगा।

इनका कहना है:-

मुझे सोशल मीडिया के माध्यम से खुशबू के बीमारी के संबंध में पता चला और मैं यहां स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ पहुंचा खुशबू की बीमारी के संबंध में जानकारी हासिल की उसका आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है जल्द ही उसे पीजीआई अस्पताल लखनऊ भेजा जाएगा।

अजय श्रीवास्तव, कलेक्टर मऊगंज 

Leave A Reply

Your email address will not be published.