रीवा सीधी कलेक्टरों ने बोरवेल को लेकर दिया बड़ा निर्देश, अब ऐसे लापरवाह लोगों के खिलाफ लेंगे ऐक्शन 

0

Rewa News: कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्रीमती प्रतिभा पाल ने जिले के सभी अप्रयुक्त एवं खुले बोरवेलों को कठोर लोहे के ढक्कन सहित बंद करने के आदेश दिये।  कलेक्टर ने इस संबंध में सभी एसडीएम, सीएमओ, जिला मुख्य कार्यपालन अधिकारी, कृषि उपसंचालक और तहसीलदारों को निर्देशित किया है।  कलेक्टर ने कहा कि उनके कार्य क्षेत्र में अप्रयुक्त बोरवेल, कुओं और अन्य खतरनाक जल स्रोतों को कसकर बंद कर दिया जाए और तीन दिन के भीतर निर्धारित प्रपत्र में रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए।  यदि बोरवेल खुला हो, उसका भरा हुआ पाइप हटा दिया गया हो या उसमें पानी न हो तो दुर्घटना होने का खतरा रहता है।  इसे रोकने के लिए तुरंत उपाय करें।

रीवा जिला प्रशासन का एक्शन रीवा के प्राचार्य का कक्ष एवं कार्यालय सीज, कारण बताओ नोटिस सहित कई सस्पेंड 

कलेक्टर ने कहा कि विभिन्न शासकीय विभागों द्वारा शहरों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल हेतु बड़ी संख्या में बोरवेल का निर्माण कराया गया है।  जो बोरवेल अनुपयोगी हो गए हैं उनकी सूची बनाएं और उन्हें मजबूती से बंद करने के उपाय करें।  उन पर मजबूत टोपियां लगाएं.  यदि निजी भूमि मालिकों ने बोरवेल, कुएं या अन्य जलस्रोतों को अनुपयोगी मानकर खुला रखा है तो उनकी सूची बनाएं और उन्हें बंद करने या लोहे का ढक्कन लगाने की व्यवस्था करें।

Rewa News: रीवा जिले में बोरवेल नहीं बंद करा पाए इस अधिकारी और ग्राम सचिव को किया गया सस्पेंड, दिए गए निर्देश  

बिना मिट्टी के कुओं में भी दुर्घटना की संभावना बनी रहती है।  ऐसे कुओं को जाल से बंद कर देना चाहिए।  नगरीय निकायों और ग्राम पंचायतों को तीन दिन के भीतर सभी प्रक्रियाओं की पुष्टि कर एसडीएम के माध्यम से रिपोर्ट देनी होगी।  इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दें।

उधर सीधी जिले के कलेक्टर ने भी बोरवेल को लेकर बड़ा निर्देश जारी किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.