अब घर बनाना होगा बेहद आसान सस्ता हुआ सरिया सीमेंट यहां जानें ताजा रेट!

0

 

 

 

अगर आप भी घर या दुकान बनाने की सोच रहे हैं तो यह खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है मोदी सरकार ने अंतरिम बजट 2024-25 पेश कर दिया है ऐसे में कुछ दुकानदार नए रेट दिखाकर ज्यादा पैसे हड़प सकते हैं  बजट, कार्ड का उपयोग गृह निर्माण में किया जा सकता है निर्माण सामग्री खरीदते समय सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि केंद्र सरकार ने किसी भी उत्पाद या संबंधित वस्तुओं जैसे ईंट, मोर्टार, रेत, सीमेंट, सरिया, सरिया आदि की कीमतों में वृद्धि नहीं की है अंतरिम बजट में निर्माण सामग्री के दाम नहीं बढ़े।

Rewa News: रीवा जिले को मिली एक ट्रेन की सौगात जल्द शुरू होगी रीवा-रायपुर ट्रेन

अगर आपका कोई जानने वाला आपसे पूछे कि आप क्या खरीद रहे हैं या आप किसी दूसरी दुकान पर जाते हैं तो आपको लग सकता है कि दुकानदार ने आपसे ज्यादा पैसे ले लिए हैं, ऐसे में हम आपकी जानकारी के लिए बता रहे हैं कि इस अंतरिम बजट में मोदी के घर, दुकान या किसी भी वस्तु की कीमत में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

केंद्र सरकार ने जीसीटी या टैक्स नहीं बढ़ाया है, इसलिए अगर दुकानदार नई कीमतों पर सामान बेच रहे हैं, तो आपको सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है। निर्माण सामग्री की कीमतें करीब छह माह से स्थिर बनी हुई हैं। हालांकि, 2022 से 2023 तक यूपी, बिहार, राजस्थान, पंजाब, झारखंड और एमपी में घर निर्माण की लागत बढ़ गई।

घर के निर्माण में इस्तेमाल होने वाले सरिया की कीमत लगभग 75 रुपये है, 8 मिमी सरिया की कीमत 350 रुपये प्रति टुकड़ा या 80 रुपये प्रति किलोग्राम है, 10 मिमी सरिया की कीमत 540 रुपये प्रति टुकड़ा या 80 रुपये प्रति किलोग्राम है, 12 मिमी छड़ की कीमत 770 रुपये है। प्रति पीस या 75 रुपये प्रति किलोग्राम। रुपये और 16 मिमी बार की कीमत 1400 रुपये प्रति पीस या 75 रुपये प्रति किलोग्राम है।

इसलिए बालू की कीमत 30 से 50 रुपये प्रति घन फुट तक बढ़ गयी बिहार में बालू की सीएफटी 5000-5500 रुपये है हर जिले में इसकी दर अलग-अलग है. उदाहरण के तौर पर, बेगुसराय 4000-5000 रुपये, वैशाली 4000-5500 रुपये मधुबनी, दरभंगा और समसीपुर का रेट लगभग एक समान है 2023 में रेत और सीमेंट की कीमत 20 रुपये प्रति बोरी कम हो जाएगी ईंट भट्ठा एसोसिएशन के मुताबिक राज्यों में ईंटों की कीमत 8000 से 12000 रुपये प्रति हजार है।

Old Pension Scheme: कर्मचारियों पेशनरों के लिए बड़ी खुशखबरी राज्य सरकार ने लागू कर दी पुरानी पेंशन योजना!

Leave A Reply

Your email address will not be published.