ARAI के इलेक्ट्रिक स्कूटर का पहली बार हुआ क्रैश टेस्ट, इन्हें होगा फायदा

0

भारत में इलेक्ट्रिक स्कूटर तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ARAI इलेक्ट्रिक स्कूटर का परीक्षण महाराष्ट्र के पुणे में ऑटोमोटिव रिसर्च एसोसिएशन ऑफ इंडिया द्वारा किया गया था। कंपनी ने अपने प्लांट में तीन क्रैश टेस्ट की श्रृंखला पूरी कर ली है।

ARAI द्वारा एक्सेलेरोमीटर और हाई स्पीड किया गया उपयोग

क्रैश परीक्षणों के दौरान डेटा कैप्चर करने के लिए ARAI द्वारा एक्सेलेरोमीटर और हाई स्पीड कैमरों का उपयोग किया गया था। परीक्षण के दौरान सख्त पाबंदियों का भी इस्तेमाल किया गया। जिस तरह भारत एनसीएपी और ग्लोबल एनसीएपी वाहन सुरक्षा के लिए क्रैश टेस्ट करते हैं। इसी तरह, इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों के लिए क्रैश टेस्ट अनिवार्य किया जा सकता है।

इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों से किसे फायदा होगा?

देश में इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों की क्रैश टेस्टिंग अनिवार्य करने से उपभोक्ताओं को सीधा फायदा होगा। क्योंकि इससे इलेक्ट्रिक टू व्हीलर का कई तरह से परीक्षण किया जाएगा, जिसके जरिए उनकी मोटर, बैटरी, चेसिस आदि का परीक्षण किया जाएगा। इसका फायदा यह होगा कि बाजार में जो भी विकल्प पेश किए जाएंगे, वे सुरक्षा की दृष्टि से काफी बेहतर होंगे और आग व खराबी जैसी घटनाओं में काफी कमी आएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.